Holi Khel Rahe Nandlal Brij Ki Galiyo Me

Holi Khel Rahe Nandlal Brij Ki Galiyo Me

होली खेल रहे नंदलाल ब्रिज की गलियों में
गलियों में गलियों में ब्रिज की गलियों में
होली खेल रहे नंदलाल ब्रिज की गलियों में

राधा जी को घेर डगर में पीलो पटका बाँध कमर में
देखो चले मटकनी चाल ब्रिज की गलियों में
होली खेल रहे नंदलाल ब्रिज की गलियों में

Hey Gopal Krishna karu aarti teri Bhajan Lyrics

विच करी की धार मार के
रंग बिरंगे रंग ढार के
ये तो कर रिहा गजब कमाल ब्रिज की गलियों में
होली खेल रहे नंदलाल ब्रिज की गलियों में

कही बसंती कही पे पीला
कही गुलाबी कही पे नीला
उड़ रहे है रंग गुलाल ब्रिज की गलियों में
होली खेल रहे नंदलाल ब्रिज की गलियों में

ढोलक और पखा बज बाजी
झूम झूम के नीलम नाची
नाचे राज अनाडी लेके ताल ब्रिज की गलियों में
होली खेल रहे नंदलाल ब्रिज की गलियों में

2 thoughts on “Holi Khel Rahe Nandlal Brij Ki Galiyo Me”

Leave a Comment